Pages

Monday, December 30, 2013

ஶிவன் 261 -280



अनादि बोधशक्ति शिखाय नमःஅனாதி³ போ³த⁴ ஶக்தி ஶிகா²ய நம​:
अनन्तशक्त्यस्त्रायஅனந்த ஶக்த்யஸ்த்ராய
अनलागमलोचनायஅனலாக³ம லோசனாய
अनेकायஅனேகாய
अनिलान्तकायஅனிலாந்தகாய
अनामरूपायஅனாம ரூபாய
अनिष्टायஅனிஷ்டாய
अनिष्टरूपायஅனிஷ்ட ரூபாய
अनिष्टदायकायஅனிஷ்ட தா³யகாய
अनिष्टग्नेஅனிஷ்டக்³னே
अनामयायஅனாமயாய
अनवरत करुणायஅனவரத கருணாய
अनर्थ रूपायஅனர்த² ரூபாய
अनन्तरूपधृतेஅனந்த ரூபத்⁴ருʼதே
अनन्तवरदायஅனந்த வரதா³ய
अनसूयाप्रियम्वदायஅனஸூயா ப்ரியம் வதா³ய
अनन्तविक्रमायஅனந்தவிக்ரமாய
अनन्तमहिम्नेஅனந்தமஹிம்னே
अनाथनाथायஅனாத²னாதா²ய
अनादिशक्तिधाम्ने नमः – २८०அனாதி³ஶக்திதா⁴ம்னே நம​: – 280

 
Post a Comment