Pages

Thursday, July 17, 2014

ஶிவம் - 5721_5760




महातपसेமஹாதபஸே
महामनसेமஹாமனஸே
महादेवायமஹாதே³வாய
महावक्त्रेமஹாவக்த்ரே
महामान्यायமஹாமான்யாய
महाशायமஹாஶாய
महायोगिनेமஹாயோகி³னே
महाभोगिनेமஹாபோ⁴கி³னே
महालक्ष्मीनिवासाङ्घ्रिपरागायமஹாலக்ஷ்மீ நிவாஸாங்க்⁴ரி பராகா³ய
महादेवाभिधानैकरूढार्थायமஹா தே³வாபி⁴ தா⁴னைக ரூடா⁴ர்தா²ய
महाकोपभयव्याधिभैषज्यायமஹாகோப ப⁴ய வ்யாதி⁴ பை⁴ஷஜ்யாய
महाकैलाशशिखरवास्तव्यायமஹாகைலாஶ ஶிக²ர வாஸ்தவ்யாய
महाबृन्दायமஹாப்³ருʼந்தா³ய
महादेवप्रियायமஹாதே³வ ப்ரியாய
महाताण्डवकृतेமஹாதாண்ட³வ க்ருʼதே
महापातकमालौघपावकायமஹாபாதக மாலௌக⁴பாவகாய
महानीतयेமஹானீதயே
महापापहरायமஹாபாபஹராய
महामतयेமஹாமதயே
महापातकनाशनाय नमः – ५७४०மஹாபாதக நாஶனாய நம​: – 5740
महावरदाय नमःமஹாவரதா³ய நம​:
महावीर्यजयायமஹாவீர்யஜயாய
महागर्भायமஹாக³ர்பா⁴ய
महाहविषेமஹாஹவிஷே
महाभूतायமஹாபூ⁴தாய
महाविष्णवेமஹாவிஷ்ணவே
महाचार्यायமஹாசார்யாய
महाचापायமஹாசாபாய
महाद्युतयेமஹாத்³யுதயே
महाबुद्धयेமஹாபு³த்³த⁴யே
महाभीमयमध्वंसोद्योगीवामाङ्घ्रयेமஹாபீ⁴ம யம த்⁴வம்ʼஸோத்³யோகீ³ வாமாங்க்⁴ரயே
महाविज्ञानतेजोरवयेமஹாவிஜ்ஞான தேஜோ ரவயே
महानुभावायமஹானுபா⁴வாய
महाफलायமஹாப²லாய
महाकल्पस्वाहाकृतभुवनचक्रायமஹாகல்ப ஸ்வாஹா க்ருʼத பு⁴வன சக்ராய
महामायायமஹாமாயாய
महागुहान्तरनिक्षिप्तायமஹாகு³ஹாந்தரனிக்ஷிப்தாய
महावटवेமஹாவடவே
महालयाय மஹாலயாய
महाबलाय नमः – ५७६०மஹாப³லாய நம​: – 5760

 
Post a Comment