Pages

Thursday, July 24, 2014

ஶிவம் - 5881_5920




महाजङ्घाय नमःமஹாஜங்கா⁴ய நம​:
महापादायமஹாபாதா³ய
महादंष्ट्रायुधायமஹாத³ம்ʼஷ்ட்ராயுதா⁴ய
महानखायமஹா நகா²ய
महाकायायமஹாகாயாய
महामेढ्रायமஹாமேட்⁴ராய
महाङ्गायமஹாங்கா³ய
महाशरीरायமஹாஶரீராய
महिमनिलयायமஹிம நிலயாய
महिषासुरमर्दनायமஹிஷாஸுரமர்த³னாய
महिषारूढायமஹிஷாரூடா⁴ய
महिमैकनिकेतनायமஹிமைக நிகேதனாய
महिमावतेமஹிமாவதே
महितायமஹிதாய
महितविभवायமஹிதவிப⁴வாய
महिगुणावलिमान्यायமஹிகு³ணாவலிமான்யாய
महीधरायமஹீத⁴ராய
महीमङ्गलदायकायமஹீமங்க³லதா³யகாய
महीभर्त्रेமஹீப⁴ர்த்ரே
महीचारिस्तुताय नमः – ५९००மஹீசாரிஸ்துதாய நம​: – 5900
महीतलविशालोरःफलकाय नमःமஹீதலவிஶாலோர​:ப²லகாய நம​:
महेश्वरायமஹேஶ்வராய
महेश्वरजनकायமஹேஶ்வரஜனகாய
महेष्वासिनेமஹேஷ்வாஸினே
महेशानायமஹேஶானாய
महेश्वरात्मकवदनायமஹேஶ்வராத்மக வத³னாய
महेश्वरात्मकपूर्ववदनायமஹேஶ்வராத்மக பூர்வவத³னாய
महेन्द्रोपेन्द्रचन्द्रार्कनमितायமஹேந்த்³ரோபேந்த்³ர சந்த்³ரார்க நமிதாய
महोदारतस्वभावायமஹோதா³ரதஸ்வபா⁴வாய
महोदधीनांप्रभवेமஹோத³தீ⁴னாம் ப்ரப⁴வே
महौषधीनांप्रभवेமஹௌஷதீ⁴னாம் ப்ரப⁴வே
महौषधायமஹௌஷதா⁴ய
महौजसेமஹௌஜஸே
महोक्षायமஹோக்ஷாய
महोक्षकमठाधारभुजाग्रायமஹோக்ஷகமடா²தா⁴ர பு⁴ஜாக்³ராய
महोल्काकुलवीक्षणायமஹோல்காகுலவீக்ஷணாய
महोक्ष्णेமஹோக்ஷ்ணே
महोक्षवाहनायமஹோக்ஷவாஹனாய
महोराशये नमः – ५९२०மஹோராஶயே நம​: – 5920


 
Post a Comment