Pages

Wednesday, February 12, 2014

ஶிவன் - 1601 - 1640



खेचराय नम: கே²சராய நம:
खचन्द्र कलाधराय க²சந்த்³ர கலாத⁴ராய
खचराय க²சராய
खज्योतिषे க²ஜ்யோதிஷே
खट्वाङ्गिने க²ட்வாங்கி³னே
खट्वाङ्ग हस्ताय க²ட்வாங்க³ ஹஸ்தாய
खट्वाङ्गधारिणे க²ட்வாங்க³தா⁴ரிணே
खट्वाङ्ग खड्गचर्म चक्राद्यायुध भीषणकराय க²ட்வாங்க³ க²ட்³க³சர்ம சக்ராத்³யாயுத⁴ பீ⁴ஷணகராய
खट्वाङ्गपाणये க²ட்வாங்க³பாணயே
खेटकाय கே²டகாய
खंड परशवे க²ண்ட³ பரஶவே
खड्गिने க²ட்³கி³னே
खंडिता शेषभुवनाय க²ண்டி³தா ஶேஷபு⁴வனாய
खड्गनाथाय க²ட்³க³ நாதா²ய
खड्ग भासिताय க²ட்³க³ பா⁴ஸிதாய
ख्याताय க்²யாதாய
खेद रहिताय கே²த³ ரஹிதாய
खद्योताय க²த்³யோதாய
खरशूलाय க²ரஶூலாய
खरान्तकृते - १६२०க²ராந்தக்ருʼதே - 1620
खल्याय க²ல்யாய
खेलनाय नम: १६२२கே²லனாய நம: 1622
गकारस्य गणपति देवता | राज्यसिद्धौ विनियोग: க³காரஸ்ய க³ணபதி தே³வதா | ராஜ்யஸித்³தௌ⁴ வினியோக³:
गकाररूपाय नम: க³கார ரூபாய நம:
गोकर्णाय கோ³கர்ணாய
गगनरूपाय க³க³னரூபாய
गगनस्थाय க³க³னஸ்தா²ய
गगनेशाय க³க³னேஶாய
गगन गम्भ्भीराय க³க³ன க³ம்ப்⁴பீ⁴ராய
गगन समरूपाय க³க³ன ஸமரூபாய
गंगाधराय க³ங்கா³த⁴ராய
गंगा तुङ्गतरङ्ग रञ्जित जटाभाराय க³ங்கா³ துங்க³தரங்க³ ரஞ்ஜித ஜடாபா⁴ராய
गंगाप्लवोदकाय க³ங்கா³ப்லவோத³காய
गंगा जलाप्लावित केशदेशाय க³ங்கா³ ஜலாப்லாவித கேஶதே³ஶாய
गंगा सलिलधराय க³ங்கா³ ஸலில த⁴ராய
गंगा सम्मार्जितांहसे க³ங்கா³ ஸம்மார்ஜிதாம்ʼஹஸே
गंगाधारिणे க³ங்கா³தா⁴ரிணே
गंगा जूटाय க³ங்கா³ ஜூடாய
गंगा स्नानप्रियाय க³ங்கா³ ஸ்நானப்ரியாய
गंगास्नान फलप्रदाय க³ங்கா³ஸ்நான ப²லப்ரதா³ய
गंगाभासित मौलये - १६४०க³ங்கா³பா⁴ஸித மௌலயே - 1640

 
Post a Comment