Pages

Friday, February 14, 2014

ஶிவன் - 1681 -1720



गणकार्याय க³ணகார்யாய
गणराशये க³ணராஶயே
गणाधिपाय க³ணாதி⁴பாய
गणकाराय க³ணகாராய
गणकोटि समन्विताय க³ணகோடி ஸமன்விதாய
गणाधिप निषेविताय க³ணாதி⁴ப நிஷேவிதாய
गणाधिप स्वरूपाय க³ணாதி⁴ப ஸ்வரூபாய
गण प्रियंकराय க³ண ப்ரியங்கராய
गणौषदाय க³ணௌஷதா³ய
गणनित्यवृताय க³ணனித்யவ்ருʼதாய
गणानां विनायकाय க³ணானாம்ʼ வினாயகாய
गणनाथयूथ समावृताय க³ண நாத²யூத² ஸமாவ்ருʼதாய
गणेशादि प्रपूजिताय க³ணேஶாதி³ ப்ரபூஜிதாய
गणनाथ सहोदर प्रियाय க³ண நாத² ஸஹோத³ர ப்ரியாய
गणेशाय க³ணேஶாய
गणेशकुमार वन्द्याय க³ணேஶ குமார வந்த்³யாய
गणपाय க³ணபாய
गणानुयात मार्गाय க³ணானுயாத மார்கா³ய
गणगाय க³ணகா³ய
गणवृन्दरताय नम: १७००க³ண வ்ருʼந்த³ ரதாய நம: 1700
गणगोचराय नम: க³ணகோ³சராய நம:
गणाध्यक्षाय க³ணாத்⁴யக்ஷாய
गणानन्द पात्राय க³ணானந்த³ பாத்ராய
गणगीताय க³ணகீ³தாய
गाणापत्यागम प्रियाय கா³ணாபத்யாக³ம ப்ரியாய
गुणाय கு³ணாய
गुणात्मने கு³ணாத்மனே
गुणाकराय கு³ணாகராய
गुणकारिणे கு³ணகாரிணே
गुणवतेகு³ணவதே
गुणविच्छ्रेष्ठाय கு³ணவிச்ச்²ரேஷ்டா²ய
गुणवित्प्रियाय கு³ணவித்ப்ரியாய
गुणाधाराय கு³ணாதா⁴ராய
गुणागाराय கு³ணாகா³ராய
गुणकृते கு³ணக்ருʼதே
गुणोत्तमाय கு³ணோத்தமாய
गुणनाशकाय கு³ண நாஶகாய
गुणग्राहिणे கு³ணக்³ராஹிணே
गुणत्रय स्वरूपाय கு³ணத்ரய ஸ்வரூபாய
गुणाधिकाय - १७२०கு³ணாதி⁴காய - 1720

Post a Comment