Pages

Friday, June 20, 2014

ஶிவம் - 5041_5080



भैरववेगवेगाय नमःபை⁴ரவ வேக³வேகா³ய நம​:
भैरवनाथायபை⁴ரவ நாதா²ய
भैरवरूपायபை⁴ரவ ரூபாய
भैरवरूपिणेபை⁴ரவரூபிணே
भैरवानन्दरूपायபை⁴ரவானந்த³ ரூபாய
भालनेत्रानलानर्चिःपीनोष्मणेபா⁴ல நேத்ரானலானர்சி​:பீனோஷ்மணே
भालनेत्राग्निसंदग्धमन्मथायபா⁴ல நேத்ராக்³னி ஸந் த³க்³த⁴ மன்மதா²ய
भूलोकवासिनेபூ⁴லோக வாஸினே
भूलोकनिवासिजनसेवितायபூ⁴லோக நிவாஸி ஜன ஸேவிதாய
भूलोकशिवलोकेशायபூ⁴லோக ஶிவ லோகேஶாய
भूलोकामरपादपायபூ⁴லோகாமர பாத³பாய
भवरोगभयध्वम्सिनेப⁴வரோக³ ப⁴ய த்⁴வம்ஸினே
भववैध्यायப⁴வ வைத்⁴யாய
भवभयापहायப⁴வ ப⁴யாபஹாய
भवविदूरायப⁴வ விதூ³ராய
भवहेतवेப⁴வஹேதவே
भव्यसौख्यदायिनेப⁴வ்ய ஸௌக்²யதா³யினே
भवभावनायப⁴வபா⁴வனாய
भव्यविग्रहायப⁴வ்ய விக்³ரஹாய
भवनाशाय नमः ५०६०ப⁴வ நாஶாய நம​: 5060
भवघ्नाय नमःப⁴வக்⁴னாய நம​:
भवभीतिहरायப⁴வபீ⁴திஹராய
भवतेப⁴வதே
भवहारिणेப⁴வஹாரிணே
भव्येशायப⁴வ்யேஶாய
भवहेतवेப⁴வஹேதவே
भवच्छिदेப⁴வச்சி²தே³
भवकृन्तनायப⁴வக்ருʼந்தனாய
भवोद्भवायப⁴வோத்³ப⁴வாய
भवसागरतारणायப⁴வ ஸாக³ர தாரணாய
भवरोहभयापहायப⁴வரோஹ ப⁴யாபஹாய
भवसंहन्त्रेப⁴வ ஸம்ʼஹந்த்ரே
भवरोगिणाम्भेषजायப⁴வரோகி³ணாம் பே⁴ஷஜாய
भवद्भव्यभूतेश्वरायப⁴வத்³ ப⁴வ்ய பூ⁴தேஶ்வராய
भवसिन्धुप्लवायப⁴வஸிந்து⁴ப்லவாய
भवाभिभूतभीतिभङ्गिनेப⁴வாபி⁴பூ⁴தபீ⁴திப⁴ங்கி³னே
भवारयेப⁴வாரயே
भव्यायப⁴வ்யாய
भवानिपतयेப⁴வானிபதயே
भवाब्धितारकाय नमः – ५०८०ப⁴வாப்³தி⁴தாரகாய நம​: – 5080

 
Post a Comment