Pages

Saturday, September 27, 2014

ஶிவம் - 7761_7800






विश्वविमोहनाय नमःவிஶ்வ விமோஹனாய நம​:
विश्वसुराराध्यायவிஶ்வஸுராராத்⁴யாய
विश्वपादायவிஶ்வபாதா³ய
विश्वाध्यक्षाय விஶ்வாத்⁴யக்ஷாய
विश्रुतातमनेவிஶ்ருதாதமனே
विश्रुतवीर्यायவிஶ்ருதவீர்யாய
विश्रुताखिलतत्वजालायவிஶ்ருதாகி²ல தத்வஜாலாய
विश्रामायவிஶ்ராமாய
विशारदायவிஶாரதா³ய
विशोधनायவிஶோத⁴னாய
विशुद्धमानसायவிஶுத்³த⁴ மானஸாய
विशुद्धमूर्तयेவிஶுத்³த⁴ மூர்தயே
विशिष्टाभीष्टदायिनेவிஶிஷ்டாபீ⁴ஷ்டதா³யினே
विश्वश्लाध्यायவிஶ்வஶ்லாத்⁴யாய
विश्वबाहवेவிஶ்வபா³ஹவே
विश्वेश्वरायவிஶ்வேஶ்வராய
विश्वतृप्तायவிஶ்வத்ருʼப்தாய
विश्वनाथायவிஶ்வநாதா²ய
विश्वभोक्त्रेவிஶ்வபோ⁴க்த்ரே
विश्ववेद्याय नमः – ७७८०விஶ்வவேத்³யாய நம​: – 7780
विश्वरूपिणे नमः விஶ்வரூபிணே நம​:
विश्वाशापरिपूरकायவிஶ்வாஶாபரிபூரகாய
विश्वगर्भाय விஶ்வக³ர்பா⁴ய
विशृङ्खलाय விஶ்ருʼங்க²லாய
विश्वामित्राय விஶ்வாமித்ராய
विशल्यायவிஶல்யாய
विश्वमोहनायவிஶ்வமோஹனாய
विशदाङ्गायाவிஶதா³ங்கா³யா
विश्वधुरन्धरायவிஶ்வ து⁴ரந்த⁴ராய
विश्वेशायவிஶ்வேஶாய
विश्वम्भरायவிஶ்வம்ப⁴ராய
विश्वनिर्माणकारिणेவிஶ்வ நிர்மாணகாரிணே
विशिष्टायவிஶிஷ்டாய
विशोकायவிஶோகாய
विशेषितगुणात्मकायவிஶேஷித கு³ணாத்மகாய
विशाखायவிஶாகா²ய
विशालायவிஶாலாய
विश्वामरेशायவிஶ்வாமரேஶாய
विश्रान्तायவிஶ்ராந்தாய
विश्वामित्रप्रसादिने नमः – ७८००விஶ்வாமித்ர ப்ரஸாதி³னே நம​: – 7800




 Download


 
Post a Comment