Pages

Friday, August 29, 2014

ஶிவம் - 6960_7000





व्रतानां पतये नमःவ்ரதானாம்ʼ பதயே நம​:
व्रतानां सत्यायவ்ரதானாம்ʼ ஸத்யாய
वत्सलायவத்ஸலாய
वत्सरायவத்ஸராய
वत्सिनेவத்ஸினே
वृत्तिरहितायவ்ருʼத்திரஹிதாய
वृत्रारिपापघ्नेவ்ருʼத்ராரி பாபக்⁴னே
वातुलागमवेद्यायவாதுலாக³ம வேத்³யாய
वातुलान्तमहातन्त्रदेशिकायவாதுலாந்த மஹா தந்த்ர தே³ஶிகாய
वातुलागमनाडीप्रदेशायவாதுலாக³ம நாடீ³ ப்ரதே³ஶாய
वात्यायவாத்யாய
वातायவாதாய
वातापितापनायவாதாபிதாபனாய
वातरंहसेவாதரம்ʼஹஸே
व्रातेभ्योவ்ராதேப்⁴யோ
व्रातपतिभ्योவ்ராதபதிப்⁴யோ
वीतिहोत्रायவீதிஹோத்ராய
वीतरागायவீதராகா³ய
वीतसंकल्पायவீதஸங்கல்பாய
वीतभयाय नमः ६९८०வீதப⁴யாய நம​: 6980
वीतिहोत्रालिकाय नमःவீதிஹோத்ராலிகாய நம​:
वीतदोषायவீததோ³ஷாய
वेत्रेவேத்ரே
वदनविजितेन्दुबिम्बायவத³ன விஜிதேந்து³ பி³ம்பா³ய
वदनाद्वयशोभितायவத³னாத்³வய ஶோபி⁴தாய
वदनत्रयसंयुतायவத³ன த்ரய ஸம்ʼயுதாய
वदावदायவதா³வதா³ய
वदान्यानामाद्यायவதா³ன்யா நாமாத்³யாய
वादपरायणायவாத³பராயணாய
वाद्यनृत्यप्रियायவாத்³ய ந்ருʼத்ய ப்ரியாய
वादिनेவாதி³னே
व्यादिशायவ்யாதி³ஶாய
विद्यात्मयोगिनिलयायவித்³யாத்ம யோகி³ நிலயாய
विद्रुमच्छवयेவித்³ருமச்ச²வயே
विद्वत्तमायவித்³வத்தமாய
विदुषेவிது³ஷே
विदंभायவித³ம்பா⁴ய
विद्वेशायவித்³வேஶாய
विद्याराशयेவித்³யாராஶயே
विदग्धाय नमः – ७०००வித³க்³தா⁴ய நம​: – 7000


 
 download

 
Post a Comment