Pages

Thursday, March 20, 2014

ஶிவம் 2721_2760



तैलप्रियाय नमःதைலப்ரியாய நம​:
तैलभोजनतत्परायதைலபோ⁴ஜன தத்பராய
तैलदीपप्रियायதைல தீ³ப ப்ரியாய
तैलपक्कान्नप्रीतमानसायதைல பக்கான்ன ப்ரீத மானஸாய
तैलाभिषेकसन्तुष्टायதைலாபி⁴ஷேக ஸந்துஷ்டாய
तैलचर्वणतत्परायதைலசர்வணதத்பராய
तैलाहारप्रियप्राणायதைலாஹார ப்ரிய ப்ராணாய
त्रिविष्टपेश्वरायத்ரிவிஷ்டபேஶ்வராய
त्रिधागतयेத்ரிதா⁴க³தயே
त्रिविद्यायத்ரிவித்³யாய
त्रिवरायத்ரிவராய
त्रिविष्टपायத்ரிவிஷ்டபாய
त्रिविक्रमायத்ரிவிக்ரமாய
त्रिविलोचनायத்ரிவிலோசனாய
त्रिविक्रमार्चितायத்ரிவிக்ரமார்சிதாய
त्रिविक्रमेश्वरायத்ரிவிக்ரமேஶ்வராய
त्रिवर्गयज्ञदायத்ரிவர்க³யஜ்ஞதா³ய
त्रिवर्गदायத்ரிவர்க³தா³ய
त्रिवर्गायத்ரிவர்கா³ய
तीव्राय नमः – २६४०தீவ்ராய நம​: – 2640
तीव्रवेदशब्दधृते नमःதீவ்ர வேத³ ஶப்³த³ த்⁴ருʼதே நம​:
तीव्रयष्टिकारायதீவ்ரயஷ்டிகாராய
त्रिशक्तियुतायத்ரிஶக்தியுதாய
त्रिशिरसेத்ரிஶிரஸே
त्रिशूलायத்ரிஶூலாய
त्रिशुक्लसंपन्नायத்ரிஶுக்லஸம்பன்னாய
त्रिशङ्कवेத்ரிஶங்கவே
त्रिशङ्कुवरदायத்ரிஶங்குவரதா³ய
त्रिशूलपाणयेத்ரிஶூலபாணயே
त्रिशूलिनेத்ரிஶூலினே
त्रिशूलचर्मधारिणेத்ரிஶூல சர்ம தா⁴ரிணே
त्रिशूलपट्टसधरायத்ரிஶூல பட்டஸ த⁴ராய
त्रिशूलधारिणेத்ரிஶூல தா⁴ரிணே
त्रिशूलभीषणायத்ரிஶூல பீ⁴ஷணாய
त्रित्रिशब्दपरायणायத்ரித்ரி ஶப்³த³ பராயணாய
त्वष्ट्रेத்வஷ்ட்ரே
तिष्यायதிஷ்யாய
तुष्टायதுஷ்டாய
तुष्टभक्तेष्टदायकायதுஷ்ட ப⁴க்தேஷ்டதா³யகாய
तुष्टिप्रदाय नमः – २७६०துஷ்டி ப்ரதா³ய நம​: – 2760

 
Post a Comment