Pages

Wednesday, March 26, 2014

ஶிவம் 2881_2920





दृप्ताय नमःத்³ருʼப்தாய நம​:
दम्भायத³ம்பா⁴ய
दम्भरहितायத³ம்ப⁴ரஹிதாய
दंभदायத³ம்ப⁴தா³ய
दंभनाशकायத³ம்ப⁴ நாஶகாய
दंभविवर्जितायத³ம்ப⁴ விவர்ஜிதாய
दमायத³மாய
दमनायத³மனாய
दमयित्रेத³மயித்ரே
दमात्मकायத³மாத்மகாய
दामोदरप्रियायதா³மோத³ர ப்ரியாய
द्युमणयेத்³யுமணயே
दयालवेத³யாலவே
दयाकरायத³யாகராய
दयासिन्धवेத³யாஸிந்த⁴வே
दयासुधानयनायத³யா ஸுதா⁴நயனாய
दयासुधाम्बुधयेத³யா ஸுதா⁴ம்பு³த⁴யே
दयानिधयेத³யா நித⁴யே
दयावतेத³யாவதே
दयापराय नमः २९००த³யாபராய நம​: 2900
दयावराय नमःத³யாவராய நம​:
दर्पणायத³ர்பணாய
दर्परूपायத³ர்பரூபாய
दर्पनाशकायத³ர்ப நாஶகாய
दरिसंस्थायத³ரிஸம்ʼஸ்தா²ய
दरदंबुजलोचनायத³ரத³ம்பு³ஜ லோசனாய
दरस्मेरमुखाम्बुजायத³ரஸ்மேர முகா²ம்பு³ஜாய
दरांदोलितदीर्घाक्षायத³ராந்தோ³லித தீ³ர்கா⁴க்ஷாய
दारुकावनवासेश्वरायதா³ருகா வனவாஸேஶ்வராய
दारुकावनमौनिस्त्रीमोहनायதா³ருகா வன மௌனி ஸ்த்ரீ மோஹனாய
दारुकारण्यनिलयायதா³ருகாரண்ய நிலயாய
दारिद्रय्यशमनायதா³ரித்³ரய்ய ஶமனாய
दारिद्रय्यदुःखदहनायதா³ரித்³ரய்ய து³​:க² த³ஹனாய
दारिद्रय्यवडवानलायதா³ரித்³ரய்ய வட³வானலாய
दारिद्रय्यध्वंसकायதா³ரித்³ரய்ய த்⁴வம்ʼஸகாய
दीर्घतपसेதீ³ர்க⁴தபஸே
दीर्घायதீ³ர்கா⁴ய
दीर्घशृङ्गैकश्रुङ्गायதீ³ர்க⁴ ஶ்ருʼங்கை³க ஶ்ருங்கா³ய
दीर्घसूत्रायதீ³ர்க⁴ ஸூத்ராய
दीर्घिकाजलमध्यगाय नमः - २९२०தீ³ர்கி⁴காஜலமத்⁴யகா³ய நம​: - 2920


Download



Post a Comment