Pages

Friday, March 28, 2014

ஶிவம் 2961_3000




द्रव्याणां प्रभवे नमःத்³ரவ்யாணாம்ʼ ப்ரப⁴வே நம​:
द्रव्यायத்³ரவ்யாய
द्र्व्यस्वरूप धृतेத்³ர்வ்ய ஸ்வரூப த்⁴ருʼதே
दंवामबाहुभूषणायத³ம்ʼ வாம பா³ஹு பூ⁴ஷணாய
दिवस्पतयेதி³வஸ் பதயே
दिव्यायதி³வ்யாய
दिवाकरायதி³வாகராய
दिव्यनृत्तायதி³வ்ய ந்ருʼத்தாய
दिवोदासेश्वरायதி³வோதா³ஸேஶ்வராய
दिव्यभोगायதி³வ்யபோ⁴கா³ய
दिव्यानन्दायதி³வ்யானந்தா³ய
दिवि सुपर्वणायதி³வி ஸுபர்வணாய
दिव्यन्तरिक्षगमनायதி³வ்யந்தரிக்ஷ க³மனாய
दिव्यमाल्याम्बरविभूषितायதி³வ்ய மால்யாம்ப³ர விபூ⁴ஷிதாய
दिव्यायुधधरायதி³வ்யாயுத⁴ த⁴ராய
दिव्यास्त्रविदेதி³வ்யாஸ்த்ரவிதே³
दिव्यलोचनायதி³வ்யலோசனாய
दिव्यदेहप्रभाकूटसंदीपितदिगन्तरायதி³வ்ய தே³ஹ ப்ரபா⁴ கூட ஸந்தீ³பிததி³ க³ந்தராய
दिव्यमालासमन्वितायதி³வ்யமாலா ஸமன்விதாய
दिव्यलेपविराजिताय नमः – २९८०தி³வ்யலேப விராஜிதாய நம​: – 2980
दिव्यचन्दनचर्चिताय नमःதி³வ்ய சந்த³ன சர்சிதாய நம​:
दिव्यादिसेव्यायதி³வ்யாதி³ஸேவ்யாய
दिव्यचक्षुषेதி³வ்ய சக்ஷுஷே
दिव्यतरुवाटीकुसुम वृन्द निष्यन्दमानमकरन्दबिन्दु संदोह संक्लिद्यमान सकलाङ्गाय नमःதி³வ்ய தருவாடீ குஸும வ்ருʼந்த³ நிஷ்யந்த³மானமகரந்த³ பி³ந்து³ ஸந்தோ³ஹ ஸங்க்லித்³யமான ஸகலாங்கா³ய நம​:
दिव्यशायिनेதி³வ்யஶாயினே
दिव्यनृत्तप्रवृत्तायதி³வ்ய ந்ருʼத்த ப்ரவ்ருʼத்தாய
दिव्यसहस्रबाहवेதி³வ்யஸஹஸ்ரபா³ஹவே
दिव्याक्रन्दकरायதி³வ்யா க்ரந்த³கராய
देवायதே³வாய
देवराजसेव्यमान पावनाङ्घ्रिपङ्कजायதே³வராஜஸேவ்யமான பாவனாங்க்⁴ரிபங்கஜாய
देवदेवायதே³வதே³வாய
देवेन्द्रायதே³வேந்த்³ராய
देवयोग्यायதே³வயோக்³யாய
देवभोग्यायதே³வபோ⁴க்³யாய
देवभोगदायதே³வபோ⁴க³தா³ய
देवर्षिमण्डितायதே³வர்ஷிமண்டி³தாய
देवर्षिवर्ज्यायதே³வர்ஷிவர்ஜ்யாய
देवतार्तिप्रशमनायதே³வதார்திப்ரஶமனாய
देवेड्यायதே³வேட்³யாய
देवताप्राणवल्लभाय नमः – ३०००தே³வதாப்ராணவல்லபா⁴ய நம​: – 3000


 Download
 
Post a Comment