Pages

Wednesday, April 9, 2014

ஶிவம் 3281_3320




नागाम्गाभरणाय नमःநாகா³ம்கா³ப⁴ரணாய நம​:
नागभोगोपवीतायநாக³போ⁴கோ³பவீதாய
नागयज्ञोपवीतायநாக³யஜ்ஞோபவீதாய
नागकङ्कणहस्तायநாக³கங்கணஹஸ்தாய
नागरूपायநாக³ரூபாய
नागकङ्कणायநாக³கங்கணாய
नागहार धृतेநாக³ஹார த்⁴ருʼதே
नागकुण्डलकर्णायநாக³குண்ட³ல கர்ணாய
नागाभरणभूषितायநாகா³ப⁴ரண பூ⁴ஷிதாய
नागराजैरलन्कृतायநாக³ராஜைரலன்க்ருʼதாய
नागेन्द्रयज्ञोपवीतशोभितायநாகே³ந்த்³ர யஜ்ஞோபவீத ஶோபி⁴தாய
नागेन्द्रवदनायநாகே³ந்த்³ர வத³னாய
नागेन्द्रहारायநாகே³ந்த்³ர ஹாராய
नागेन्द्रदमनायநாகே³ந்த்³ர த³மனாய
नागेन्द्रभूषणायநாகே³ந்த்³ர பூ⁴ஷணாய
न्यग्रोधरूपायந்யக்³ரோத⁴ரூபாய
न्यग्रोधवृक्षकर्णस्थितायந்யக்³ரோத⁴ வ்ருʼக்ஷ கர்ண ஸ்தி²தாய
निगमायநிக³மாய
निगमालयायநிக³மாலயாய
निगमाचारतत्पराय नमः – ३३००நிக³மாசார தத்பராய நம​: – 3300
निगमोच्छ्वासाय नमः நிக³மோச்ச்²வாஸாய நம​:
निग्रहायநிக்³ரஹாய
निचेरवेநிசேரவே
निजायநிஜாய
निजात्मतेநிஜாத்மதே
निजपादाम्बुजासक्तसुलभायநிஜபாதா³ம்பு³ஜாஸக்த ஸுலபா⁴ய
निजाक्षिजान्ग्रिसंदग्धत्रिपुरायநிஜாக்ஷி ஜான்க்³ரிஸந்த³க்³த⁴ த்ரிபுராய
नटायநடாய
नटवरायநடவராய
नटचर्यायநடசர்யாய
नटवर्यायநடவர்யாய
नटप्रियाय நடப்ரியாய
नटनाख्योत्साबोल्लासहृदयायநடனாக்²யோத்ஸாபோ³ல்லாஸ ஹ்ருʼத³யாய
नित्यायநித்யாய
नित्यानांनित्यायநித்யானாம்ʼ நித்யாய
नित्यतृप्तायநித்ய த்ருʼப்தாய
नित्यनर्तनायநித்ய நர்தனாய
नित्यमाश्रमपूजितायநித்யமாஶ்ரம பூஜிதாய
नित्यनीतिशुद्धात्मनेநித்யனீதிஶுத்³தா⁴த்மனே
नित्यवर्चस्विने नमः ३३२०நித்ய வர்சஸ்வினே நம​: 3320


Download



Post a Comment